भोजपुरी अभिनेत्री अक्षरा सिंह की जीवनी


भोजपुरी अभिनेत्री अक्षरा सिंह की जीवनी 1
(Last Updated On: अप्रैल 6, 2018)

Image source

भोजपुरी अभिनेत्री अक्षरा सिंह की जीवनी

अक्षरा सिंह भोजपुरी इंडस्ट्री की एक जानी पहचानी अभिनेत्री हैं, अक्षरा की शोख और चंचल अदाओं के भोजपुरी दर्शक दीवाने हैं. आज अक्षरा की गिनती भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री की खूबसूरत अदाकाराओं में होती हैं, जिन्होंने अपनी सुंदरता और अपने सशक्त अभिनय से भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में अपनी एक अलग छाप छोड़ी है।

अक्षरा को अभिनय विरासत में मिला, उनके पिता श्री बिपिन सिंह भोजपुरी फिल्मों के स्थापित चरित्र अभिनेता हैं,तो वही उनकी माता नीलिमा सिंह भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में सहायक अभिनेत्री के साथ साथ थिएटर आर्टिस्ट भी हैं, यही कारण हैं की दोनों की प्रतिभा अक्षरा को मिली और आज वो भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री को अपने अभिनय व् डांस के दम पर और अधिक ऊचाइयों पर ले जाने को प्रयत्नशील दिखती हैं।

अक्षरा ने अब तक भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री के सभी बड़े सितारों के साथ अभिनय किया है, और अपने अभिनय से दर्शको के दिल में अपनी जगह स्थापित की। अक्षरा की डेब्यू फिल्म ही भोजपुरी के डायमंड स्टार कहे जाने वाले रवि-किशन के साथ हुई। वही खेसारी लाल यादव ,दिनेश लाल यादव, पवन सिंह जैसे भोजपुरी के दिग्गज अभिनेताओं के साथ काम करके उन्होंने भोजपुरी इंडस्ट्री में अपनी मजबूत पकड़ बना ली है, जिसके बदौलत आज अक्षरा के पास अनगिनत फिल्मों के ऑफर आ रहे हैं।

यह भी पढ़े: क्यों भोजपुरी की “हॉट केक” है अंजना सिंह

आइये जानते है अक्षरा सिंह के बारे में थोड़ा विस्तार से-

अक्षरा सिंह का जन्म ३० अगस्त १९९३ को बिहार की राजधानी पटना में हुआ था। इनके पिता का नाम बिपिन सिंह तथा माता का नाम नीलिमा सिंह हैं, अक्षरा की तरह इनके माता पिता भी भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े हैं।

अक्षरा को बचपन से ही डांस का शौक था किन्तु, फिल्मों में अभिनय की चाह उनमे नही थी। एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू के दौरान उन्होंने बताया की माता पिता के फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े होने के कारण फिल्म से जुड़े लोगो का घर पर आना जाना लगा रहता था किन्तु वो कभी एक्टिंग के प्रति ज्यादा संवेदनशील नही थी और एक डांसर के तौर पर अपनी पहचान बनाना चाहती थी।

तभी एक दिन किसी फिल्म के सिलसिले में रवि-किशन अक्षरा के पिता से मिलने उनके घर आये तभी उनकी नजर पास में खड़ी अक्षरा पर पड़ी तो रवि ने अपनी आने वाली फिल्म सत्यमेव जयते के लिए एक्ट्रेस के तौर पर अक्षरा से बात की और अक्षरा रवि-किशन जैसे सुपरस्टार के साथ काम करने का मौका गवाना नही चाहती थी और उन्होंने रवि-किशन को हां बोल दिया।

इस फिल्म के साथ ही अक्षरा के फ़िल्मी सफर की शुरुवात हो गई, ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पे हिट हो गई और अक्षरा के पास फिल्मों के ढेर सारे ऑफर आने लगे. इस फिल्म को करने के पश्चात अक्षरा फिल्म इंडस्ट्री में सक्रिय हो गई. साथ ही अपनी खूबसूरती और अभिनय कला की बदौलत निर्माता निदेशक की पसंद बन गई।

इस फिल्म को करने के बाद अक्षरा ने कभी पीछे मुड़कर नही देखा और एक के बाद एक कई हिट फिल्में देकर अक्षरा भोजपुरी इंडस्ट्री की टॉप एक्ट्रेसेस की सूची में शामिल हो गई।

अक्षरा सिंह फिल्मोग्राफी –

  •  सत्यमेव जयते - रवि-किशन के संग
  •  रामपुर का लक्ष्मण - रवि-किशन के संग
  • हमार देवदास - रवि-किशन के संग
  • प्राण जाए पर वचन ना जाए - रवि-किशन के संग
  • बजरंग - पवन सिंह के संग
  • एक बिहारी सौ पे भारी - दिनेश लाल यादव "निरहुआ" के संग
  • सौगंध गंगा मईया के - पवन सिंह के संग
  • कालिया - हैदर काजमी के संग
  • बिगुल - हैदर काजमी के संग
  •  ऐ बलम बिहार वाला - खेसारी लाल यादव के संग
  • बेताब - खेसारी लाल यादव के संग
  • ठोक देब - पवन सिंह के संग
  • प्रतिज्ञा २ - पवन सिंह के संग
  •  प्यार झुकता नहीं - खेसारी लाल यादव के संग
  •  धरती के लाल - पवन सिंह के संग
  • दिलेर - दिनेश लाल यादव "निरहुआ" के संग
  • जो जीता वही सिकंदर - खेसारी लाल यादव के संग
  •  हीरो न.१ - खेसारी लाल यादव के संग
  • साथिया - खेसारी लाल यादव के संग
  •  निरहुआ रिक्शावाला २ - दिनेश लाल यादव "निरहुआ" के संग
  • माई के कर्ज - विनय आनंद के संग
  • त्रिदेव - पवन सिंह के संग
  • साजन चले ससुराल २ - खेसारी लाल यादव के संग

अक्षरा सिंह भोजपुरी फिल्मों के साथ ही हिंदी टीवी सिरियल्स “सर्विस वाली बहु” में भी अपने अभिनय कौशल से अपने फैंस का मनोरंजन कर रही हैं, तथा कुछ टीवी रियलिटी शो में भी बतौर एंकर काम कर चुकी हैं. नीचे दियें गए कमेंट बॉक्स के माध्यम से अक्षरा सिंह के बारे में अपनी राय जरूर बताएं…


भोजपुरी मैजिक, भोजपुरी भाषा से संबंधित सभी प्रकार की रचनाओ, कृतियों, और भोजपुरी मनोरंजन को एक जगह संकलित करने के उद्देश्य से आरम्भ की गई एक परियोजना है। भोजपुरी भाषा के प्रसार, सम्मान, और स्वीकार्यता के लिए हम निरंतर प्रयासरत है |

Comments

comments